श्रीदेवी की बहन श्रीलता…कभी परछाई की तरह रहती थी साथ, इस वजह से बर्बाद हुआ बहनों का रिश्ता

बॉलीवुड की लीजेंड्री एक्ट्रेस और बड़े सुपरस्टार्स में से एक श्रीदेवी का 2018 में निधन हो गया लेकिन वह अपनी फिल्मों के जरिए आज भी दुनियाभर के अपने फैन्स के दिलों में जिंदा है. 80 के दशक में जब हेमा मालिनी और रेखा जैसी एक्ट्रेसेज बॉलीवुड डायरेक्टर्स की पहली पसंद थीं तब श्रीदेवी ने खुद को बॉलीवुड में एक एक्ट्रेस के तौर पर स्टैंड किया. अपने शानदार करियर के दौरान श्रीदेवी ने 300 से ज्यादा फिल्मों में काम किया. आप श्रीदेवी की प्रोफेशनल लाइफ के बारे में तो बहुत सी बातें जानते होंगे लेकिन उनकी बहन श्रीलता के बारे में ज्यादा लोग नहीं जानते. श्रीदेवी और श्रीलता के बीच एक समय बहुत मजबूत रिश्ता था और दोनों बहनों के बीच बहुत प्यार था लेकिन बाद में दोनों बहनों के बीच कुछ ऐसा हुआ जिससे उनके रिश्ते में काफी कड़वाहट आ गई.

जब श्रीदेवी फिल्मों में अपना करियर शुरू कर रही थीं तो श्रीलता भी उनके साथ फिल्म सेट पर जाती थीं और 1972 से 1993 तक श्रीलता को श्रीदेवी की लगभग हर फिल्म के सेट पर देखा जाता था. श्रीलता भी श्रीदेवी की तरह एक्ट्रेस बनना चाहती थीं लेकिन वह सक्सेस का स्वाद चखने में असफल रहीं और फिर श्रीदेवी की मैनेजर बन गईं.

रिपोर्ट्स के मुताबिक, मां की मौत के बाद दोनों बहनों के बीच मतभेद पैदा हो गए. दरअसल एक बार श्रीदेवी की बीमार मां को ऑपरेशन के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था और अस्पताल के डॉक्टर ने यह ऑपरेशन गलत कर दिया. इसके बाद श्रीदेवी की मां की याददाश्त चली गई और 1996 में उनकी मृत्यु हो गई.

श्रीदेवी ने अस्पताल के खिलाफ केस जीत लिया और उन्हें मुआवजे के रूप में लगभग 7.2 करोड़ रुपये मिले. कहा जाता है कि मुआवजे की सारी रकम श्रीदेवी ने अपने पास रख ली और इससे दोनों बहनों के रिश्ते में कड़वाहट आ गई. इसके बाद श्रीलता ने अपने हिस्से का पैसा पाने के लिए श्रीदेवी के खिलाफ अदालत में मामला दायर किया और दावा किया कि उनकी मां की मानसिक स्थिति ठीक नहीं थी और इसलिए उन्होंने अपनी सारी संपत्ति श्रीदेवी के नाम कर दी. श्रीलता ने केस जीत लिया और उन्हें अपने हिस्से के तौर पर 2 करोड़ रुपये मिले. कहा जाता है कि बोनी कपूर ने दोनों बहनों के बीच सुलह कराने की कोशिश भी की थी लेकिन बात नहीं बनी.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *